उम्र के हर पड़ाव पर हर महिला की इच्छा होती है कि उस की स्किन अच्छी हो. वह कहीं भी जाए बस सब की नजरें उस पर ही हों. मगर धूप, धूल, प्रदूषण आदि से स्किन की खूबसूरती खो जाती है. ऐसे में उस की सही देखभाल बहुत जरूरी है. स्किन को झुर्रियों, पिगमैंटेशन, ऐज स्पौर्ट्स आदि से बचाना भी जरूरी है. इस बारे में ‘क्यूटिस स्किन स्टूडियो’ की स्किन स्पैशलिस्ट डा. अप्रतिम गोयल कहती हैं कि स्किन को सुंदर बनाए रखने के लिए सही डाइट व लाइफस्टाइल, हारमोन लैवल, स्ट्रैस लैवल आदि सभी किसी न किसी रूप में मददगार होते हैं. इसलिए स्किन की उम्र को बढ़ने से रोकने के लिए सही मात्रा में संतुलित भोजन लेने, अधिक मात्रा में पानी पीने, नियमित व्यायाम करने, तनाव कम करने, शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बनाए रखने आदि की जरूरत होती है. साथ ही गुड स्किन केयर रिजीम और स्किन ट्रीटमैंट भी जरूरत के अनुसार करवाते रहना चाहिए. अगर एंटीएजिंग ट्रीटमैंट कराना पड़े, तो अनुभवी डाक्टर के पास ही जाएं ताकि आप को स्किन में आप की चाह अनुसार सकारात्मक परिवर्तन, ग्लोइंग स्किन मिले. आज के आधुनिक ट्रीटमैंट्स से अधिकतर महिलाएं या पुरुष मनचाहा रूप पाने में समर्थ हो रहे हैं. स्किन को सुंदर बनाए रखने के लिए इन बातों पर ध्यान दें:

1. सूर्य की किरणों से स्किन को करें प्रौटेक्ट

आप वर्किंग हों या हाउसवाइफ सूर्य की किरणों से अपनी स्किन को हमेशा प्रोटैक्ट करें, क्योंकि इन से स्किन खराब होने लगती है, जिस से जल्दी झुर्रियां पड़ने लगती हैं. इस के लिए सनस्क्रीन एसपीएफ 25 का प्रयोग करें. अगर आप मेकअप करती हैं तो सनस्क्रीन लगाने के बाद मेकअप करें. इस के अलावा धूप से बचने के लिए स्कार्फ या दुपट्टे का प्रयोग करें.

ये भी पढ़ें- ओट्स से पाएं ग्लोइंग स्किन, जानें कैसे

2. हारमोन स्पैशलिस्ट से करवाएं जांच

पौलिसिस्टिक ओवेरियन डिजीज अधिकतर मिडल ऐज की महिलाओं को अपना शिकार बनाती है. इस से हारमोन का संतुलन बिगड़ जाता है, जिस से अनियमित माहवारी, चेहरे पर बालों का उगना, एक्ने होना, वजन बढ़ना जैसी परेशानियां हो जाती हैं, ऐसे में हारमोन स्पैशलिस्ट से अपनी जांच करवाएं. अगर चेहरे पर बाल उगने लगें तो लेजर से रिमूव करना सब से अच्छा औप्शन है.

 3. विटामिंस और मिनरल्स की कमी से बचना है जरूरी

विटामिंस और मिनरल्स की कमी से भी स्किन बेजान सी हो जाती है. अत: ऐसा होने पर डौक्टर की सलाह पर दवा लें. स्किन पर पतली रेखाएं होने का कारण आप की स्किन का ड्राई होना है. ऐसे में मौइश्चराइजर का प्रयोग उन्हें कम करने में सहायक होता है.

4. एंटीएजिंग क्रीम लगाने के लिए डौक्टर से लें सलाह

एंटीएजिंग क्रीम लगाने का सही समय तय करने के लिए डाक्टर की सलाह लेनी जरूरी है, क्योंकि स्किन के अनुसार ही ऐंटीएजिंग क्रीम लगानी चाहिए. कुछ क्रीमें चेहरे की पतली रेखाओं को मिटाने में सहायक होती हैं, जबकि कुछ स्किन को मौइश्चराइज करने के साथसाथ उस में खोए पोषक तत्त्वों को वापस लाने में भी समर्थ होती हैं. कुछ प्राकृतिक चीजें भी स्किन को सुंदर बनाए रखने के लिए कारगर होती हैं. मसलन, खीरे, पपीते आदि को घिस कर लगाने से स्किन पर थिन लाइंस होने से बचाया जा सकता है.

ये भी पढ़ें- ड्राई बालों के लिए घर में ऐसे बनाएं कंडीशनर

5. सही फेशियल टिप्स है जरूरी

स्किन को फेशियल करना या साफ रखना बहुत जरूरी है. 30 की उम्र पार करते ही अगर स्किन औयली है और मुंहासे होते हैं, तो फेशियल कभी न करें. सिर्फ स्किन को साफ रखने की कोशिश करें. इस के लिए पानी और तरल पदार्थों का प्रयोग ज्यादा करें. अगर स्किन ड्राई या नौर्मल है, तो महीने में 1 बार फेशियल और 3 महीने में 1 बार स्किन पौलिशिंग करवाएं.

Tags:
COMMENT