बच्चों में मोटापा बढ़ने के कई कारण होते हैं, लेकिन ज्यादातर ये परेशानी माता-पिता की अनदेखी या लापरवाही के कारण भी हो सकती है. इसीलिए आज हम आपको बच्चों में मोटापे की वजह और कैसे इस बीमारी से बच्चों को दूर रखें इसके बारे में बताएंगे.

इतना मोटापा क्यों?

- दुनियाभर में बच्चे जिस तरह मोटापे का शिकार हो रहे हैं, उस में एक कारण उन के जींस और हार्मोंस भी हो सकते हैं, यानी मोटापा उन्हें आनुवंशिक रूप से प्राप्त हो रहा है. लेकिन इस कारण का प्रतिशत बहुत कम है.

- मोटापे की खास वजह बच्चों में खानपान की गलत आदतें हैं. बच्चे खाते बहुत हैं और कसरत न के बराबर करते हैं.

- नौकरीपेशा मातापिता के पास खाना पकाने के लिए न तो समय होता है और न ही ताकत. नतीजा, वे फास्टफूड यानी झटपट तैयार खाने पर निर्भर होते जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें- बीमारियों से घिरते बच्चे

- आज दुनियाभर में जहां देखो वहां फास्टफूड रैस्तरां खुलते जा रहे हैं. एक अध्ययन से पता चला है कि अमेरिका में 4 से 19 साल के एकतिहाई बच्चे हर दिन फास्टफूड पर ही जीते हैं. इस तरह के खाने में शक्कर और चिकनाई बहुत ज्यादा होती है. साथ ही, इन्हें इतनी बड़ी मात्रा में परोसा जाता है कि देखने वालों की लार टपकने लगती है.

- आज लोग दूध और पानी के बजाय सौफ्टड्रिंक पीना ज्यादा पसंद करते हैं. मिसाल के लिए, मैक्सिको में हर साल लोग उतना पैसा 10 तरह के व्यंजनों पर भी खर्च नहीं करते जितना वे सिर्फ  सौफ्टड्रिंक पर खर्च कर देते हैं. हर दिन सिर्फ 600 मिलीलिटर सौफ्टड्रिंक पीने से सालभर में एक व्यक्ति का वजन करीब 11 किलो तक बढ़ सकता है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT