क्या आप खाली समय में गाने सुनना पसंद करती हैं? अगर हां तो आपको बता दें कि म्यूजिक आपका मुड ठीक करने के साथ ही साथ दिल की सेहत को भी दुरुस्त रखने में मदद करता है. म्यूजिक का हमारी लाइफ पर भी काफी प्रभाव पड़ता है. इससे दिमाग तेज और शार्प होता है. आपने तमाम कहानियों में पढ़ा होगा कि पेड़-पौधों के हिलने, जंतुओं के बोलने, हवाओं के चलने आदि में भी मधुर म्यूजिक को महसूस किया जा सकता है. हर कोई चाहे वो बच्चा हो, युवा हो या फिर वृद्ध हो अपने पसंद के अनुसार म्यूजिक को सुनना पसंद करते हैं.

म्यूजिक हमारी सेहत को भी काफी प्रभावित करता है. जब हम अपना पसंदीदा गाना सुन रहे होते हैं तब हमारे दिमाग से एक रसायन का स्राव होता है. इसे डोपामाइन कहते हैं. यह हमारे मूड को सकारात्मक बनाने में मददगार होता है और हमारी भावनाओं को भी मजबूत बनाता है. इसके अलावा भी गाने सुनने के कई सारे फायदे होते हैं. तो चलिए जानते हैं कि वे फायदे क्या हैं?

1. म्यूजिक आपको खुश रखता है

जब भी हम कोई अच्छा गाना सुन रहे होते हैं तब हमारा दिमाग डोपामाइन रिलीज करता है. इसे हैप्पी हार्मोन भी कहा जाता है. हैप्पी हार्मोन खुशी और एक्साइटमेंट बढ़ाने में काफी असरदार है. इसलिए जब भी हम किसी अच्छे गाने को सुनते हैं तो हमारा मुड बदल जाता है और हम अंदर से खुशी का अनुभव करने लगते हैं.

ये भी पढ़ें- सेहत और स्वाद के रंग

2. दिल की सेहत रखे दुरुस्त

जिन लोगों को दिल संबंधी कोई बीमारी है उन्हें खूब गाने सुनने चाहिए. एक अध्ययन में पाया गया है कि जब हम अपना पसंदीदा गाना सुन रहे होते हैं तब हमारे दिमाग से एंडार्फिन नाम का हार्मोन निकलता है. यह हार्मोन दिल संबंधी समस्याओं से निजात दिलाने में मददगार होता है.

3. दिमाग रखे जवां

एक अध्ययन के मुताबिक म्यूजिक दिमाग को हमेशा सेहतमंद बनाए रखता है. शोध का कहना है कि गाना सुनना दिमाग के व्यायाम की तरह होता है.

4. रोग प्रतिरोधक क्षमता रखे मजबूत

रोग प्रतिरोधक क्षमता को दुरुस्त रखने के लिए म्यूजिक सुनना काफी आवश्यक है. यह शरीर में स्ट्रेस हार्मोन के स्राव को कम करता है जो कि रोग प्रतिरोधक क्षमता को कमजोर करने के लिए जिम्मेदार है.

5. अवसाद रखे दूर

म्यूजिक चिंता दूर करने और मूड सही रखने में बेहद प्रभावी साबित हो सकता है. एक अध्ययन के मुताबिक हमारे मूड और जीवन की गुणवत्ता पर म्यूजिक का काफी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है.

ये भी पढ़ें- सेहत से न करें समझौता

Tags:
COMMENT