अगर आप अपने प्रेमी के साथ शादी करने की सोच रही हैं तो बेहतर है कि आप उसके परिवार के लोगों से भी मिलना शुरू कर दें. किसी भी संबंध में रहना एक अलग बात है और शादी के बंधन में बंधना एक अलग बात है. हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि शादी के बाद आपको उसी परिवार के साथ रहना है.

अगर आपको शादी के बाद पता चले कि आपने जिससे शादी की है वो व्यक्ति तो अच्छा है लेकिन उसका परिवार वैसा नहीं है, जैसा आप चाहती हैं तो आप क्या करेंगी. इसलिए चलिए आज जानते हैं कि आपको कौन-सी खास चीजें अपने साथी के परिवार के बारे में पता होनी चाहिए.

क्या परिवार का स्वभाव डोमिनेटिंग है

कोई भी इंसान आप पर अपने फैसले थोपने लगे या आप पर हावी होने लगे तो शायद उनका यह स्वभाव आपको बिल्कुल पसंद नहीं आएगा. इसलिए आप पहले ही जान लें कि कहीं उसके परिवार के सदस्यों का स्वभाव डोमिनेट करने वाला तो नहीं हैं. ऐसा कोई भी हो सकता है जैसे उसके पिता, मां, भाई या बहन. अगर ऐसा है तो अभी भी समय है कि आप एक बार फिर सोच लें, क्योंकि इस तरह के माहौल में आप खुद को एडजस्ट नहीं कर पाएंगी और फिर इससे आपके रिश्ते भी परेशानी में आ जाएंगे.

क्या मां अपने बेटे पर बहुत हक जताती है

अगर आपके बौयफ्रेंड की मां उस पर जरुरत से अधिक हक जताती है तो आपके लिए उनके साथ रहना थोड़ा मुश्किल हो सकता है. अगर आप एक-दूसरे को पसंद करते हैं तो फिर आपको कोई परेशानी नहीं होगी. अगर मां उसके हर फैसले को नियंत्रित करती है तो हो सकता है कि आपको उनका दखलअंदाज करना पसंद ना आए. ऐसा हो सकता है कि आपका बौयफ्रेंड चाहे कि आप उसकी मां को हर चीज के लिए मनाएं लेकिन आप हर बार ऐसा नहीं कर पाएंगी और परेशान हो जाएंगी. इसलिए बेहतर है कि आप उसके परिवार से पहले ही मिल लें और उनके व्यवहार के बारे में जान लें.

पिता कहीं औथोरिटेरियन तो नहीं

शादी के बाद ऐसा ना हो कि उसके पिता अपने फैसलों को लेकर काफी संवेदनशील हो. बहुत परिवारों में बुजुर्ग इंसान चाहते हैं कि सभी लोग उनकी कही बात माने और उनके फैसलों का अनुसरण करें. अगर ऐसा होगा तो वो अपने बेटे के लिए खुद ही सारे फैसले लेना चाहेंगे जिससे आगे चलकर आपको समस्या हो सकती है.

क्या वो आपको बदलने की कोशिश कर रहे हैं 

जिस तरह आप किसी को बदल तो नहीं सकते हैं उसी तरह आप भी इस तरह के लोगों से साथ रहना पसंद नहीं करेंगे जो आपको बदलने की कोशिश करें. आपका अपना अलग स्वरुप और मिजाज है और अगर उसे कोई पसंद नहीं करता है तो वो उनकी समस्या है. इसलिए उनसे पहले मिलें और समझें कि क्या वो ऐसे लोग हैं जो आपको बदलने की कोशिश कर सकते हैं या कर रहे हैं. अगर हां तो बेहतर होगा कि खुद को उनसे दूर ही रखें.

भाई-बहन – अगर आप पहले ही उसके परिवार के सदस्यों से मिल लेंगी तो आप जान पाएंगी कि उसके भाई-बहन का स्वभाव कैसा है. क्या वो सबसे घुल-मिल कर रहते हैं या किसी नए इंसान का होना उनकी आंख में खलता है. इससे आप अंदाजा लगा पाएंगी कि शादी के बाद वो आपके साथ किस तरह से पेश आएंगे और आप उन्हें किस तरह ट्रीट करें. आपके बौयफ्रेंड को उसके भाई बहनों से काफी लगाव होगा जैसा कि हर इंसान को होता है इसलिए जरुरी है कि आप भी उन लोगों के साथ अच्छी समझ बना सके. इसके लिए मुलाकात करना आवश्यक है.

सगे-सम्बंधी – उसके परिवार के सभी सदस्यों से मिलकर आप जानेंगी कि कहीं उसके सगे-सम्बंधियों का स्वभाव हर बात में दखलअंदाजी करने वाला तो नहीं है. अगर वो उसके परिवार के हर मामले में दखल देते हैं तो इससे आपको परेशानी हो सकती है. इसमें कोई शक नहीं है कि सगे-सम्बंधियों का स्वभाव मदद करने से ज्यादा परेशानी देने वाला होता है.

Tags:
COMMENT