स्किन के दागधब्बे हटाने के लिए महिलाएं क्या कुछ नहीं करतीं. इस के बाद भी अगर दागधब्बे न जाएं तो खीझ होना स्वाभाविक है. लाखों घरेलू उपाय और नुसखे हैं और इतनी ही क्रीमें बाजार में उपलब्ध हैं. सब कुछ आजमाने के बाद भी दागधब्बे अस्थायी तौर पर जाएं तो तय है दागदार स्किन एक अभिशाप बन कर रह जाती है. स्किन के दागधब्बे हटाने से पहले उन वजहों को जानना जरूरी है जिन के चलते ये स्किन पर आते हैं और फिर विदा होने का नाम ही नहीं लेते.

बढ़ती उम्र के कारण दाग धब्बे

स्किन की अपनी जरूरतें होती हैं जिन्हें अगर वक्त रहते न समझा जाए तो बढ़ती उम्र के साथसाथ दागधब्बे भी बढ़ जाते हैं और एक वक्त ऐसा भी आता है कि कोई भी उपाय कारगर साबित नहीं होता. दरअसल, स्किन के दागधब्बे बाहरी और अंदरूनी दोनों वजहों के एकसाथ हावी होने के कारण आप को अपना शिकार बनाते हैं और ऐसे बनाते हैं कि आप को पता भी नहीं चलता कि पहला दाग या धब्बा कब प्रकट हुआ था यानी लापरवाही भी एक बड़ी वजह है. आइए, जानें बेदाग स्किन पाने के कुछ सीक्रेट्स ताकि चेहरा छिपा कर बात न करनी पड़े और सहज आत्मविश्वास भी बना रहे:

खानपान

स्किन का सीधा संबंध भोजन से है यह हर कोई जानता है, लेकिन इस के बाद भी भोजन में उन तत्त्वों की कमी या गैरमौजूदगी पर किसी का ध्यान नहीं जाता तो स्किन पर दागधब्बे होने की बड़ी वजह बनते हैं. इसलिए नए सिरे से भोजन पर ध्यान दें. मसलन:

ये भी पढ़ें- ट्रैडिशनल लुक के लिए ट्राय करें ये 6 मेकअप ट्रिक्स

– भोजन में विटामिन, प्रोटीन, खनिज व दूसरे अन्य तत्त्व मौजूद हों.

– भोजन में मौसमी सब्जियां, दालें और फल जरूर शामिल करें.

– दही या छाछ भी भोजन का हिस्सा हो.

– विटामिन सी और ई वाले खा-पदार्थ मसलन नीबू इत्यादि खाने में जरूर शामिल करें.

– रात का भोजन सोने से कम से कम 3-4 घंटे पहले करें.

– सुबह का नाश्ता पौष्टिक और फाइबरयुक्त हो.

– संतुलित मात्रा में ड्राईफ्रूट्स को भी डाइट का हिस्सा बनाएं.

कई कारणों से डाइट चार्ट बना कर खाना संभव नहीं है लेकिन खाने में क्या हो और क्या नहीं इस का ध्यान तो रखा ही जा सकता है, जैसे:

बिलकुल न लें

शराब, व्हाइट ब्रैड, कोल्ड ड्रिंक्स, सोया मिल्क, स्ट्राबेरी, चौकलेट.

विशेषज्ञों का मानना है कि ये पदार्थ ज्यादा लिए जाएं तो स्किन विकार पैदा करते हैं इसलिए इन्हें न के बराबर लेना चाहिए.

सीमित करें

चाय, कौफी, दूध, नमक, चीनी, मूंगफली का तेल और सालसा.

नियमित लें

सेब, टमाटर, नींबू, दही और फलों का रस.

सिर्फ नहाना भर स्किन की देखभाल के लिए काफी नहीं, बल्कि स्किन को साफ रखने के ये उपाय भी अपनाने चाहिए:

ये भी पढ़ें- ग्लोइंग स्किन के लिए बेस्ट हैं ये 5 ग्रीन टी फेस पैक

– सप्ताह में 1 बार उबटन का प्रयोग करें.

– महीने में 1 बार फेशियल और बौडी मसाज जरूर कराएं.

– चेहरे का खासतौर से ध्यान रखें. पहला धब्बा दिखते ही संभल जाएं और तुरंत ब्यूटीशियन या स्किनरोग विशेषज्ञ से सलाह लें.

– रोज कम से कम 7-8 घंटे की नींद जरूर लें.

– पेट साफ रखें, कब्ज स्किन के दागधब्बों की एक अहम वजह है.

– चेहरे पर नियमित अंतराल में शहद, हलदी, नीबू का रस, गुलाबजल, बेसन या फिर मलाई का प्रयोग करें. इन के उपयोग से मृत स्किन हटती है.

– सनस्क्रीन का नियमित इस्तेमाल करें.

– तनाव, अपच और अनिद्रा से बचें. अकसर आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स इन्हीं वजहों के चलते होते हैं.

इंदौर की सीनियर ब्यूटीशियन, मीनाक्षी पौराणिक का कहना है कि जैसे किशोरावस्था में मुंहासे निकलते हैं वैसे ही मेनोपौज के वक्त भी स्किन संबंधी समस्याएं महिलाओं को घेरने लगती हैं जैसे रिंकल्स आना, पिगमैंटेशन, आंखों के आसपास लाइनें बनना और डार्क स्पौट होना इत्यादि.

वे बताती हैं कि आजकल ब्यूटी क्लीनिक्स में फेशियल के अलावा कई नौनसर्जिकल ट्रीटमैंट दिए जाते हैं जैसे माइक्रोडर्माट्रोजन, फू्रट पील, कैमिकल पील, लिंफेटिक थेरैपी ट्रीटमैंट, मैगनैट थेरैपी, अरोमा थेरैपी, स्टोन थेरैपी और मेरीन ट्रीटमैंट आदि. ये सभी स्किन को बेदाग बनाने में कारगर हैं. जितना संभव हो अपनी जीवनशैली और खानपान को सही रखें. ऐसा करने से स्किन की प्राकृतिक चमक बरकरार रहेगी.

ये भी पढ़ें- स्किन को एलर्जी से दूर रखने के लिए अपनाएं ये टिप्स

Tags:
COMMENT