पिंक लिप्स किसी भी महिला की खूबसूरती में चार चांद लगाते है, लेकिन अगर किसी कारण आपके लिप्स का कलर काला पड़ जाए, तो लिपस्टिक लगाना जरुरी होता है. अगर आप लिपस्टिक के शौक़ीन नहीं है, तो ये आपकी प्रौब्लम बन जाती है. नैचुरल लुक में आप कैसे रहे?

इस बारें में हिमालया ड्रग की रिसर्च साइंटिस्ट निवृति श्वेता कहती है कि असल में स्किन पर धूप, डिहाइड्रेशन और गरमी का प्रभाव सबसे अधिक पड़ता है. सूरज की यूवी किरणों के प्रभाव से सनस्क्रीन बहुत हद तक स्किन की रक्षा कर पाती है, लेकिन लिप्स की सौफ्ट स्किन के लिए कुछ ख़ास नहीं मिलता और धूप से लिप्स को बचाने की जानकारी भी बहुत कम महिलाओं को होती है. दरअसल स्किन में मेलानिन होता है. इसका रंग इसी पिगमेंट के कारण होता है. ये पिगमेंट न केवल धूप को सोखती है, बल्कि सोखी गयी यूवी किरणों को बिखेर भी सकती है. स्किन की तुलना में लिप्स में मेलानोसाइट्स की काफी कम मात्रा होती है. यही सेल मेलानिन पिगमेंट उत्पन्न करते है. मेलानिन जितना कम होगा, धूप से सुरक्षा उतनी ही कम होगी. इसलिए लिप्स पर टैनिंग, सनबर्न जैसी समस्याएं उत्पन्न हो जाया करती है. स्किन से अधिक लिप्स का ध्यान रखना जरुरी है. धूप से बचाव के कुछ तरीके ये हैं...

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT